नोटबन्दी से चली गयी नौकरी तो छापने लगा नकली नोट :चुना अपराध का रास्ता

two-graphic-designer-arrested-by-delhi-police-for-printing-fake-currency

two-graphic-designer-arrested-by-delhi-police-for-printing-fake-currency

नोटबन्दी से चली गयी नौकरी तो छापने लगा नकली नोट :चुना अपराध का रास्ता

दिल्ली पुलिस ने नकली नोट बनाने एक गैंग जो कि दो ग्राफिक डिज़ाइनर है उनका पर्दाफाश किया है. साथ ही इस

मामले कि तह तक पहुचने के पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपियों के पास से 500 और 2000 के 6 लाख 10 हजार रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं.

नोटबंदी होने के बाद कृष्ण जो कि एक ग्राफिक डिजाइनर है उसकी नौकरी चली गई तो उसने पैसा कमाने के

लिए अपराध का रास्ता चुन लिया.कृष्ण नजफगढ़ का रहने वाला है और एक ऑटोमोबाइल कंपनी में बतौर ग्राफिक डिजाइनर

कार्य करता था. नोटबंदी के बाद कृष्ण की नौकरी चली गई. पेशे से एक अच्छा ग्राफिक डिजाइनर होने के वजह से कृष्ण ने

पैसा कमाने के लिए अपने हुनर का इस्तेमाल किया. जिसके बाद कृष्ण ने अपने एक साथी के साथ नकली

नोट छापना शुरु कर दिया.

जीएसटी के चलते आईपीसी की धारा 1860 में छूट,दो करोड़ तक की चोरी पर मिलेगी छूट | GST Section 1860

two-graphic-designer-arrested-by-delhi-police-for-printing-fake-currency
two-graphic-designer-arrested-by-delhi-police-for-printing-fake-currency

 

ग्राफिक डिजाइनर कृष्ण और उसके दूसरे साथी ने लगभग 6 लाख 10 हजार रुपये के 500 और 1000 के नकली नोट छाप लिए थे.

नकली नोट को बाजार में पहुचाने कि भी तैयारीहो चुकी थी लेकिन नकली नोट मार्किट में पहुच पाते, उससे पहले पुलिस आरोपियों

तक पहुंच गई. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस पूछताछ में कृष्ण ने बताया कि अभी तक वह 25 हजार रुपये के नकली

नोट बाजार में चला चुका है. पुलिस ने बताया कि आरोपी कृष्ण कोरल आर्ट, पेज मेकर, फोटो शॉप आदि में बेहतर जानकारी रखता है.

 

कृष्ण पेशे से पहले कंप्यूटर टीचर भी रह चुका है. पुलिस ने दोनों आरोपियों के पास से कागज , कलर प्रिंटर,कई तरह की इंक

जो नकली नोट छापने में प्रयोग होती है साथ ही नोट बनाने में प्रयोग किया जाने वाला काफी सामान बरामद किया है. फिलहाल

पुलिस मामले की जांच करते हुए आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

two-graphic-designer-arrested-by-delhi-police-for-printing-fake-currency,fake currency,graphic designer,delhi police,crime,arrest

One thought on “नोटबन्दी से चली गयी नौकरी तो छापने लगा नकली नोट :चुना अपराध का रास्ता

  1. I intended to compose you one little bit of remark in order to say thank you again with your striking methods you’ve shared on this site. It is certainly seriously generous with you giving without restraint just what a number of people might have sold for an e book in order to make some bucks for themselves, notably seeing that you could have tried it if you ever decided. Those concepts likewise worked to become a fantastic way to fully grasp that other people online have similar passion just like my very own to learn somewhat more in respect of this condition. I believe there are thousands of more enjoyable periods ahead for people who view your site.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *