आज काम पर लौटेंगे doctor सात दिन बाद बनी सरकार और डाॅक्टरों की सहमति

thereader.co.in

न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 7 दिन तक चिकित्सा व्यवस्था ठप करने के बाद आखिरकार सरकार और डाॅक्टरों के बीच रविवार को देर रात 11 बजे सहमति बन गई Doctors की ज्यादातर मांगे मान ली गईं। पाँच बिंदुओं पर सहमति नहीं बनी, जिनके निस्तारण के लिए कमेटी का गठन किया जाएगा। कमेटी में सेवारत चिकित्सकों के दो प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। इसके साथ ही सोमवार से राज्य के जिला अस्पतालों, सीएचसी, पीएचसी,सब सेंटर और डिस्पेंसरियों में स्वास्थ्य सेवाएं बहाल हो जाएंगी। सरकार से वार्ता के बाद समझौता पत्र हस्ताक्षर करने के बाद सेवारत चिकित्सक संघ ने सोमवार से काम पर लौटने की घोषणा की है पिछले 7 दिनों में डाॅक्टर और सरकार के प्रतिनिधियों के बीच करीब 5 दौर की वार्ता हुई, लेकिन हर बार ऐन मौके पर वार्ता विफल हो रही थी। सेवारत चिकित्सक 33 बिंदुओं को

thereader.co.in

सामूहिक अवकाश पर थे। इससे पहले सरकार और डाॅक्टर प्रतिनिधियों के बीच जो बातचीत हुई थी, उसमें ज्यादातर मांगों को लेकर सहमति बन गई थी मांग पत्र नौ, 10, 23, 29 और 31 को लेकर कमेटी का गठन किया जाएगा, जिसमें सेवारत चिकित्सकों के दो प्रतिनिधि शामिल होंगे। इसके अलावा डाक्टर चिकित्सा सेवाएं एकल पारी में करने की मांग कर रहे थे, जिसे सरकार के प्रतिनिधियों ने स्वीकार नहीं किया। इस मामले को उच्च स्तर पर भिजवाने पर सहमति बनी। दूसरी सबसे बड़ी मांग यह थी कि आईएएस की तर्ज पर चौथे प्रमोशन में 10 हजार का ग्रेड पे दिया जाए, लेकिन इस बिंदु को कैबिनेट में ले जाया जाएगा। करीब नौ घंटे चली बातचीत में चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ, एसीएस वित्त डीबी गुप्ता, प्रमुख सचिव गृह दीपक उप्रती, प्रमुख सचिव Medical वीनू Gupta और सेवारत चिकित्सा संघ के अध्यक्ष Ajay चौधरी व अन्य प्रतिनिधि शामिल रहे डीएसीपी एरियर के प्रकरणों का निस्तारण चिकित्सा शिक्षा विभाग में पूर्व अनुमत एक बारीय शिथिलन के अनुरूप किया जाएगा। एक अप्रैल 2018 से छह, 12, 18 वर्ष पूर्ण होने पर डेट आफ ज्वाइनिंग के स्थान पर योग्यता की तारीख से वित्तीय लाभ मिलेंगे।मेडिकल सर्विस कैडर के प्रस्ताव को कमेटी से अनुमोदन के बाद कैबिनेट में ले जाया thereader.co.in

जाएगा मेडिकल सर्विस में पीजी करने के लिए 10, 20 और 30 का फार्मूला तय करने के साथ ग्रामीण क्षेत्र में कार्यरत डाक्टरों के हितों की रक्षा की जाएगी 31 दिसंबर तक यह तय कर लिया जाएगा कि डाक्टरों की एसीआर जिला परिषद के सीईओ के स्थान पर विभागीय अधिकारी भरेंगे आरएमआरएस के अध्यक्ष पर जिला कलेक्टर के अतिरिक्त चिकित्सा विभाग के अधिकारी ही अध्यक्ष पर पर कार्य करेंगे अतिरिक्त निदेशक राजपत्रित के पद पर पूर्व की तरह डाक्टर ही रहेंगे चिकित्सा संस्थानों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे ग्रामीण चिकित्सकों को ग्रामीण भत्ता 500 से बढ़ाकर 1000 रुपये किए जाएंगे चिकित्सकों का पोस्टमार्टम भत्ता 400 रुपये और सौ रुपये पोस्टमार्टम में सहयोग करने वाले कर्मी को देय होगासंयुक्त निदेशक जोन कार्यालयों में विधि सहायक का पद स्वीकृत किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को चरणबद्व तरीके से वाहन उपलब्ध होंगे ग्रामीण क्षेत्र में चिकित्सकों को आवास उपलब्ध कराया जाएगा नीम हकीमों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर कमेटी गठित की जाएगी सीएचसी पर कार्यभार के आंकलन करके लिपिक पद सृजित किए जाएंगे  6600 रुपये पे ग्रेड कार्यरत चिकित्सकों को पीजी करने पर तीन और पीजी के समकक्ष डिप्लोमा को दो अतिरिक्त वेतन बढ़ोत्तरी करने पर सहमतिइंटर्नशिप में दिए जा रहे भत्ते को 3500 रुपए से बढ़ाकर 7 हजार रुपए किया जाएगा  60 वर्ष से अधिक आयु पर वीआरएस लेने पर आवेदन पर गुणावगुण के आधार पर फैसला किया जाएगा। The government and doctors agreed after seven days

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *