जम्मू आतंकी हमले:मे एक जवान शहीद, दो जख्मी; जैश के तीन टेररिस्ट को घेरा गया

thereader.co.in

Area, 2 Dead and 4 injured | Indian Army News न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार सुंजवां आर्मी कैम्प पर शनिवार तड़के आतंकी हमला हुआ। हमले के पीछे जैशमोहम्मद का हाथ बताया जा रहा है। एक जवान शहीद हो गया, जबकि 2 जख्मी हुए हैं। अनुमान है कि तीन आतंकी कैम्प में छिपे हुए हैं, जिन्हें पुलिस ने घेर लिया है। पूरे इलाके में सिक्युरिटी फोर्स को तैनात कर दिया गया है। कैम्प के अंदर रुकरुककर फायरिंग की आवाज आ रही है। पूरे शहर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। कैंप के 500 मीटर के दायरे में स्थित स्कूल बंद कर दिए गए हैं जम्मूकश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने बताया कि आतंकी पिछले दरवाजे से कैम्प में दाखिल हुए। उन्होंने बताया कि तीन आतंकियों के कैम्प में मौजूद होने का अनुमान है, जिन्हें घेर लिया गया है हमले(attack)में जख्मी

thereader.co.in

Advertisement :

हुए लोगों में एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर की बेटी भी शामिल है न्यूज एजेंसी के मुताबिक फायरिंग में एक शख्स की मौत भी हुई है। हालांकि, इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इंटेलिजेंस ने आर्मी या सिक्युरिटी एस्टेबलिशमेंट पर जैश के हमले की वॉर्निंग दी थी एजेंसी ने कहा था कि अफजल गुरू की डेथ एनीवर्सरी के मद्देनजर जैश आतंकी बड़े हमले को अंजाम दे सकते हैं। बता दें कि 9 फरवरी 2013 को अफजल को फांसी दी गई थी न्यूज एजेंसी ने जम्मू के आईजी एसडी सिंह जामवाल के हवाले से बताया कि शनिवार तड़के 4:55 बजे संतरी के बंकर पर फायरिंग की गई। इस पर जवानों की ओर से जवाबी फायरिंग(Firing) की गई। आतंकी सेना के एक क्वार्टर में घुसे हुए हैं 

thereader.co.in

इस हमले के बारे में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मूकश्मीर के डीजीपी से बात की है। साथ ही गृह मंत्रालय के अफसरों को इस पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं इस आतंकी हमले के बाद जिला प्रशासन ने कैम्प के आसपास 500 मीटर के दायरे में सभी स्कूल बंद रखने को कहा गया है जम्मूकश्मीर के पुलवामा में 7 जनवरी को सीआरपीएफ कैंप पर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें 3 कैप्टन समेत 5 शहीद हो गए थे जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकी मारे गए थे। जैशमोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी CRPF के स्पोक्सपर्सन राजेंद्र यादव ने बताया था कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब लोकल टेररिस्ट्स ने सुसाइड अटैक को अंजाम दिया है पिछले साल घाटी में 182 बटालियन बीएसएफ कैम्प पर अक्टूबर में फिदायीन हमला हुआ था। सिक्युरिटी फोर्स की कार्रवाई में सभी 3 आतंकी मारे गए थे। हालांकि, एक जवान

Advertisement :

thereader.co.in

भी शहीद हो गया था। तब जैशमोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी इसके पहले जून में सीआरपीएफ के काफिले पर लश्करतैयबा के आतंकियों ने हमला किया था। इसमें एक सब इंस्पेक्टर शहीद हो गया था। वहीं, दो जवान भी जख्मी हुए थे। हमले की जिम्मेदारी लश्करतैयबा ने ली थी। गाड़ी पर फायरिंग करने के बाद आतंकी पास के एक स्कूल में छिप गए थे। कुछ देर बाद आर्मी ने मोर्चा संभाला था और स्कूल में छिपे सभी आतंकियों को मार गिराया गया था 2017 में सिक्युरिटी फोर्सेस ने जम्मू और कश्मीर में 206 आतंकवादियों को ढेर किया। J&K के पुलिस चीफ एसपी वैद ने कहा, “मैं ये साफ कर देना चाहता हूं कि हमारे ऑपरेशन केवल टेररिस्ट को मार गिराने के लिए ही नहीं, बल्कि उन्हें मुख्यधारा में शामिल करने के लिए भी था। हमने(We) 75 युवाओं को मुख्यधारा में शामिल कराया है Terrorists attacked Army camp in Jammu’s Sunjwan Area, 2 Dead and 4 injured | Indian Army News And Updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *