जानिए सुरुआत में तीखा और अंत में मीठा क्यों खाना चाहिए

Know spicy in early, and in the end you must eat sweet

Know spicy in early, and in the end you must eat sweet अक्‍सर आपने देखा होगा कि

शादियों या त्‍यौहारों में पारंपरिक भोजन की शुरुआत लगभग दाल, सब्‍जी,

चपाती, चावल और अचार से करते है तथा भोजन के अंत में मिठाई खाईं जाती है।

परन्तु क्‍या आपने कभी ये सोचा है कि हम पहले मीठा और फिर मसालेदार खाना क्‍यों नहीं खाते?

शायद नहीं, तो आइए हम आपको बताते है की खाने की शुरुआत में मसाले से और अंत मीठा का सेवन क्यों करना चाहिये।

भोजन की शुरुआत में तीखे से और लास्ट में मीठा क्‍यों खाना चाहिए ?

जब हम मसालेदार भोजन का सेवन करते हैं तो हमारे पेट के अंदर पाचन तत्‍व एवं अम्‍ल सक्रिय हो जाते हैं।

इससे पाचन तंत्र ठीक तरह से कार्य करता है।

और मसालेदार खाना इस बात को भी निर्धारित करता है

कि हमारा पाचन ठीक तरह से काम कर रहा है।

और दूसरी तरफ मीठे में कार्बोहाइड्रेट होता है जो हमारे पाचन को धीमा करता है।

चीनी का सेवन अमिनो एसिड ट्रीप्टोफन के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करता है।

ट्रीप्टोफन सेरोटोनिन न्‍यूरोट्रांसमीटर के स्तर को बढ़ता है, जो पूरा होने की भावनाओं से जुड़ा होता है।

और हमें अहसास होता है कि भोजन के अंत में मीठे खाने का अनुभव करने की जरूरत होती हैं।

मसालेदार खाने से की शुरुआत और मिठाई से अंत के पीछे की परंपरा का तर्क है।
मीठे के विकल्‍प
हालांकि, सफेद चीनी से बना मीठा सेहत के लिए अच्‍छा नहीं माना जाता है।

क्योंकि यह न केवल चीनी के सेवन को बढ़ाता है बल्कि काफी लंबे वक्त तक इसका सेवन करने से मोटापा

और अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य संबंधित समस्‍याओं और बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है।

इसलिए आप को‍शिश करें कि घर की बनाई हुयी मिठाई ही खाये और

मिठाई बनाते वक्त उसमें गुड़ य ब्राउन शुगर का प्रयोग करें।

आर्गेंनिक गुड़ आपके लिए सबसे अच्‍छा और गुणकारी साबित हो सकता है।

और आप गुड़ से बनने वाले नट्स और ओट्स के लड्डू भी ट्राई कर सकते हैं।

Know spicy in early, and in the end you must eat sweet,spicy food, sweet food, benefits of spicy food, benefits of sweet food

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *