इस बार भारत और पाकिस्तान है एक साथ , भारत में हुई थी 2000 लोगो की मोत

heat waves 2017 summer india

heat waves 2017 summer india

heat waves 2017 summer india , Indian cities may face deadly heatwaves in 2017

according to scientist of whether . heat waves 2017 will deadly in india.

इस बार भारत और पाकिस्तान है एक साथ , भारत में हुई थी 2000 लोगो की मोत

मौसम के वैज्ञानिकों का इस बार कहना है कि भारत व पाकिस्‍तान के लोगों को इस बार भरी

और तेज गर्मी का सामना करना पढ़ सकता है । इस वर्ष की गर्मी वर्ष 2015 की ही तरह होने के

आसार है | 2015 जिसमें भारत में दो हजार लोगों की मौत हो गई थी।

पेरिस समझौते के अंतर्गत भले ही ग्लोबल वार्मिग को तय की हुई सीमा तक रोक लिया गया था |

लेकिन इसके बावजूद भी 2017 की गर्मी में भारत के कोलकाता जैसे बड़े शहरो में लोगो को लू का

सामना करना पड़ सकता है। वैज्ञानिकों ने ठोस चेतावनी देते हुए कहा है की यह गर्मी 2015 के जैसी

हो सकती है | जब भारत देश भर में 2000 लोगो की मोत हो गए थी | अनुमान है कि 2015 पेरिस

समझौते को समर्थन दे रहे देशों ने वैश्विक तापमान में बढ़ोतरी को दो डिग्री तक कम रखने का

संकल्प बताया है ।

heat waves 2017 summer india

सोमवार के दिन पानी पानी होना पड़ता है यहाँ की लड़कियों को

heat waves 2017 summer india

लिवरपूल जॉन मूर्स यूनिवर्सिटी ऑफ़ ब्रिटेन के पर्यावरण विशेषज्ञ ‘टॉम मैथ्यूस’ ने बताया है कि

पर्यावरण में बदलाव के साथ ही गर्मी में भी तेजी बढ़ती जाती है। उनके अनुशार , अगर पेरिस

समझौते के अंतर्गत ग्लोबल वार्मिंग को रोक भी दिया जाए तो पाकिस्तान में कराची और भारत

में कोलकाता को 2015 जैसी भारी गर्मी का सामना करना पड़ेगा।

खोजकर्ताओं ने बताया की सारी दुनिया के 101 ज्यादा आबादी वाले शहरो में से लगभग 44 शहरों

में तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस बढ़ चूका है |

अनुमान है कि 2015 में पाकिस्तान में लू के कारण 1200 लोग व भारत में 2000 से ज्यादा लोग

मारे गए थे। और अमेरिकन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन के निदेशक जॉर्जेस बेंजामिन ने लिखा है

कि लू उन शहरों के लिए घातक है जहां गर्मी खींचने वाला एसफॉल्ट, कांक्रीट और ज्यादा आबादी हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *