फेसबुक की नयी तकनीक, दिमाग जो सोचेगा वही टाइप हो जायेगा: जल्द आ रही है ये तकनीक

Facebook new technology coming soon The brain that thinks will be the same type

फेसबुक की नयी तकनीक, दिमाग जो सोचेगा वही टाइप हो जायेगा: जल्द आ रही है ये तकनीक

Facebook new technology coming soon The brain that thinks will be the same type फेसबुक इन दिनों एक नए तरीके

की टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है,

जिस से आपको फेसबुक पर लिखने से आपको छुटकारा मिल जायेगा .

इस तकनीक के तहत आप जो सोचेंगे वही टाइप होना शुरू हो जाएगा.

फेसबुक इंक ने अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के पूर्व प्रमुख के नेतृत्व में चलाए गए

गोपनीय प्रोजेक्ट से पर्दा हटाते हुए बताया कि कंपनी अब विचार व स्पर्श द्वारा संचार की डायरेक्शन में शोध कर रही है.

हाल ही में लॉन्च बिल्डिंग-8 रिसर्च टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए फेसबुक द्वारा ब्रेन सेंसिंग पर काम किया जा रहा है.

इसके अंतर्गत फेसबुक इस्तेमाल करने वालों को टाइपिंग के झंझट से छुटकारा मिल जायेगा और

सोनू निगम ने मौलवी की चुनौती पर मुंडवाया सिर लेकिन मौलवी अपने वादे से मुकरे नहीं दिए 10 लाख

वह दिमाग में जो भी सोचेगा वही टाइप हो जाएगा.

आपको बता दे की पेंटागन की डिफेंस एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजंसी (डीएआरपीए) के

पूर्व निदेशक व फेसबुक की हेड ऑफ सीक्रेटिव बिल्डिंग-8 के उपाध्यक्ष रेजिना डुगन ने

कंपनी के एफ-8 सम्मेलन में बताया कि हम बिल्डिंग-8 पर काम कर रहे हैं.

उन्होंने बताते हुए कहा, ‘भविष्य क्रांतिकारी तकनीकी से भरा हुआ है,

जो बिना टाइपिंग के हमें लोगों से संवाद करने योग्य बनाएगी.’

इस रिसर्च पर फेसबुक में 60 लोगों की टीम काम कर रही है.

Facebook new technology coming soon The brain that thinks will be the same type.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *