20 मीटर आगे कुछ नहीं दिखा जब Sikar पहुंचा हरियाणा और दिल्ली स्मॉग

thereader.co.in

न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार शहर में बुधवार को सुबह की शुरुआत स्मॉग के कारण हुई। मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा-पंजाब में खेतों में फसल काटे जाने के बाद बची खूंटियों को जलाने के कारण यह धुंआ हवा का रुख उत्तरी पश्चिमी दिशा की ओर होने से दिल्ली होते हुए शेखावाटी तक फैल रहा। मौसम विभाग जयपुर केंद्र के वैज्ञानिक अशोक शर्मा ने बताया कि सर्दियों का मौसम शुरू होने के साथ ही ऊपर का thereader.co.in

तापमान बढ़ने लगता है। वहीं हवा की रफ्तार कम होने के कारण धुएं की परत आसमान में ऊपर नहीं चढ़ पा रही है जमीन से करीब एक किलोमीटर ऊंचाई तक गहरा धुंआ बना हुआ है। हवा की रफ्तार तेज होने या बारिश के कारण यह आसानी से साफ हो जाता है। लेकिन फिलहाल यह स्थिति बनती नजर नहीं आ रही है मौसम विशेषज्ञों के अनुसार कोहरे और स्मॉग में कुछ बुनियादी अंतर होता है। सर्दी का thereader.co.in

weather शुरू होने के साथ fog आने लगता है। कोहरे के कारण वातावरण में नमी बढ़ जाती है। सुबह के वक्त ओस की बूंदें जमने लगती हैं। बुधवार को सुबह नमी का असर नहीं था। लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही थी और आंखों में जलन हो रही थी। यह स्मॉग के कारण होता है वातावरण में धुएं के हालात यह रहे कि morning 10 बजे तक 20 मीटर के आगे कुछ भी नजर नहीं आ रहा था। दिन में भी यही हालात बने रहे। हालांकि दोपहर में दृश्यता का दायरा बढकर 30 मीटर जरूर पहुंच गया। लेकिन शाम चार बजे बाद दृश्यता वापस कम होने thereader.co.in

लगी। दिन में भी लाइट जलाकर धीमी रफ्तार में वाहन चलाने पड़े बुधवार को दिन में आरएसपीएम की मात्रा 386 रही। जबकि सामान्य आरएसपीएम 165 होता है, दीपावली पर यह स्तर 200 तक पहुंच गया था। जिला प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड अधिकारी विनय कट्टा के अनुसार आरएसपीएम हवा में सांस में अवरोध पैदा करने वाले कणों को मापने की इकाई है। आरएसपीएम की मात्रा जितनी ज्यादा होती है, सांस लेने में परेशानी उतनी ही ज्यादा बढ़ जाती है Delhi Smog : Sikar effected by Smug nothing show only on 20 meter distance

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *